ISRO

एस्ट्रोसैट - भू खंड

इसरो के दूरमिति अनुवर्तन और आदेश जाल(इस्ट्रैक) को इस मिशन के सभी चरणों के लिए जमीन समर्थन प्रदान करने की जिम्मेदारी दी गई है। एस्ट्रोसैट भू खंड में टीटीसी (दूरमिति और दूरादेश) और नीतभार डेटा अभिग्रहण केंद्र, उपग्रह नियंत्रण केंद्र (एससीसी), भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान डाटा केंद्र(आईएसएसडीसी) और नीतभार संचालन केंद्र (पीओसी) शामिल हैं। एस्ट्रोसैट टीटीसी और नीतभार भू केंद्र आईएसएसडीसी  के साथ भारतीय गहण अंतरिक्ष नेटवर्क कॉम्प्लेक्स (आईडीएसएन), बयलालू में सहस्थित है। इन सभी चारों प्रचालन क्षेत्र परिचित संचार लिंक के माध्यम से जुड़े हुए हैं। उपरोक्त के अलावा, वहां पूर्व प्रसंस्करण तथा गुण, आवश्यकता के अनुरूप लिए अवलोकनों अनुक्रम को सुव्यवस्थित योग्यता पर विचार कर और उपग्रह समय के प्राप्त अनुरोध के अनुमोदन के लिए प्रस्तावों और उपग्रह और ज्यामिति से प्रस्तुत बाधाओं को दूर करने की व्यवस्था है। ये भू प्रणाली के क्रियाकलापों में सामंज्यस्य बनाने के मिशन उद्देश्य की पूर्ति करते हैं ।

टीटीसी और नीतभार डाटा अभिग्हण केंद्र

11-मी ऐंटेना

एस्ट्रोसैट का एंटीना (11 मीटर) एस्ट्रोसैट टीटीसी और नीतभार डाटा अभिग्रहण प्रचालन के लिए समर्पित है। केंद्र आरएफ प्रणाली के साथ संयोजन के रूप में मिशन की आवश्यकताओं को पूरा करने के अनुरूप है। एससीसी, बंगलौर में एक स्टैंडबाई टीटीसी और नीतभार डाटा अभिग्रहण केंद्र भी बनाया गया है। दृश्यता में सुधार हेतु और विस्तृत टीटीसी समर्थन के लिए इस्ट्रैक के बाकी के एस-बैंड नेटवर्क का भी उपयोग किया जाएगा। भू केंद्र नियंत्रण केंद्र और अनन्य नीतभार उपकरणों के अनुरूप बहुसंकेतों को ठीक करने के बाद विज्ञान डाटा केंद्र को टीटीसी डाटा हस्तांतरण करते हैं ।
 

उपग्रह नियंत्रण केंद्र (एससीसी) और मिशन प्रचालन कॉम्प्लेक्स(MOX)
 

मिशन प्रचालन कॉम्प्लेक्स(MOX)

उपग्रह नियंत्रण केंद्र में कंप्यूटर, तकनीकी सुविधाएं, मिशन नियंत्रण और मिशन विश्लेषण क्षेत्र और समर्पित मिशन नियंत्रण क्षेत्र शामिल हैं। उपग्रह नियंत्रण केंद्र में, उपग्रह के स्वास्थ्य , दूरादेश नीतभार प्रचालन अपलिंक और ऑनबोर्ड विन्यास बदलाव, अभिवृत्ति निर्धारण, दृश्यता जनन, निर्धारण और सभी टीटीसी डेटा सेट योजना तथा अभिलेखीय का मानीटरण किया जाता है । समयबद्ध विभिन्न स्रोत अवलोकनों और विभिन्न उपकरणों के प्रचालन के लिए इस उद्देश्य के लिए बनी अलग समिति ने इसे मंजूरी दे दी है। इस केंद्र के लिए सभी आवश्यक और अनुमोदित मिशन प्रचालन सॉफ्टवेयर और विश्लेषण उपकरण उपलब्ध हैं। पूर्व प्रक्षेपण अनुकरण भी इस केंद्र से आयोजित किए जाते हैं। इस्ट्रैक संचार जाल में दोनों स्थलीय और उपग्रह लिंक शामिल हैं, जोकि सभी भू क्रियाकलापों तथा प्रमोचक एजेंसी के लिए वास्तविक समय ध्वनि / डाटा / फैक्स अनुयोजकता प्रदान करता है।

नीतभार प्रचालन योजना

एस्ट्रोसैट अवलोकन मूल रूप से प्रस्ताव-आधारित है और प्रक्षेपण के एक साल बाद ही इस के अवसर की घोषणा प्रभावी होगी।
 

एस्ट्रोसैट प्रस्ताव प्रसंस्करण प्रणाली (एपीपीएस) अपने प्रस्ताव डेटाबेस के लिए सभी प्रस्तावों को स्वीकार करता है और आगे पूर्व निर्धारित मानदंडों के आधार पर प्रसंस्करण करता है। यह इसी तरह अन्य योजना उपकरण के साथ जैसे एस्ट्रोव्यूअर और प्रदर्शन समय गणक, अन्य उपकरण मोड, बाधाओं आदि के साथ अंतरापृष्ठ करता है। स्रोत चयन और अंतिम रूप देने के लिए एस्ट्रोसैट समय आबंटन समिति द्वारा सक्षम समीक्षा प्रक्रिया की सहायता के साथ सभी प्रस्तावों का आकलन उनके वैज्ञानिक योग्यता और व्यवहार्यता और एस्ट्रोसैट तकनीकी समिति (एटीसी) की टिप्पणियों को ध्यान में रखते हुए मूल्यांकन करता है । एटीटीसी से मंजूर किए प्रस्तावों को एटीसी को भेजे जाते हैं, जो सभी अंतरिक्ष यान की बाधा को पूरा करने के लिए स्रोत के अवलोकन के व्यवहार्यता का अध्ययन करता है । अनुमोदित प्रस्तावों को नीतभार घटनाक्रम नियोजन प्रणाली को उपग्रह को अपलिंक करने के लिए समय-लाइन में आदेश अनुक्रम तैयार करने के लिए भेजे जाएंगे।
 

आईएसएसडीसी और पीसीओ
 

भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान डाटा केंद्र (आईएसएसडीसी ) को  त्वरित परीक्षण प्रदर्शन (क्यूएलडी), प्रसंस्करण(स्तर-0/1 के लिए), अभिलेखीय (सभी स्तरों पर, सहायक डेटा के साथ) और नीतभार डेटा प्रकीर्णन का संचालन करने की जिम्मेदारी प्रदान की गई है । यह उच्च स्तर पीसीओ / अतिथि पर्यवेक्षकों द्वारा जनित उत्पादों को प्राप्त और अभिलेखागार करता है । आईएसएसडीसी वैज्ञानिकों को वैकल्पिक नियंत्रण केंद्र में सेवा करने के अलावा नीतभार और उपकरण स्वास्थ्य की निगरानी की सुविधा के लिए समर्थन करता है।
 

नीतभार प्रचालन केंद्र (पीसीओ) के उपकरण बुद्धिमान केंद्रीय बिंदु हैं। वे उपकरणों के स्वास्थ्य, उपकरण संबंधित प्रचालन कार्यों का समन्वय,  समय-समय पर अंशाकन और उच्च स्तर डाटा संसाधन की निगरानी करते हैं। वे आईएसएसडीसी से संसाधित डेटा को प्राप्त करने और लॉक-इन अवधि के समाप्ति के बाद आम जनता को अभिलेखीय और प्रकीर्णन के लिए उच्च स्तर के पीसीओ जनित उत्पादों को वापस सौपते हैं।

इस प्रकार, आद्यांत मिशन की गतिविधियों, अंतर्गसण, नीतभार प्रचालन प्रस्ताव अभिग्रहण और प्रसंस्करण, आदेश जनन और अपलिंक, नीतभार संचालन, उपग्रह कक्षा और अभिवृत्ति अनुरक्षण, नीतभार डेटा अभिग्रहण और प्रसंस्करण, प्रकीर्णन और अभिलेखीय गतिविधियां एकीकृत भू खंड से की जाती हैं । इन सबसे परे, भू खंड  सभी वांछित कक्षा और अभिवृत्ति को शामिल करते हुए, उपकरण प्रचालन के लिए चालकीय पर्यावरन प्रदान करने तथा इस अंतरिक्ष संपदा को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार है ।