ISRO

मंगल कक्षित्र से लिया गया नवीनतम चित्र

एम.सी.सी; का यह चित्र लगभग 1800 कि.मी. ´ 1800 कि.मी. को आवृत्‍त करता मंगल का बृहत क्षेत्र दर्शाता है। एम.सी.सी. के ढाँचे अंतरिक्षयान की ऊँचाई के अनुसार, भिन्‍न-भिन्‍न विस्‍तार आवृत्‍त करते हैं। एम.सी.सी. 20कि.मी.´20 कि.मी. के चित्र लेता है तब एम.ओ.एम. उपभू में होता है और मंगल का पूरा गोला 60,000 कि.मी. की तुंगता पर। 

उच्‍च (प्रकाशमान) व निम्‍न (अंधेरेवाले) श्‍वेतिमा क्षेत्र की मुख्‍य विशेषताएँ इस चित्र में देखी जा सकती हैं। उच्‍च श्‍वेतिमा वाले क्षेत्र धूल से भरे हुए हैं जिसमें फेरस ऑक्‍साइड की मात्रा प्रचुर है तथा निम्‍न क्षेत्र केवल बसाल्टिक चट्टान वाले क्षेत्रों को दर्शाते हैं।   

यह चित्र 11 दिसंबर, 2015 को 16,547 कि.मी. की तुंगता एवं 827 मी. के विभेदन में लिया गया है।