ISRO

जीएसएलवी एमके III, भू अंतरण कक्षा (जीटीओ) में 4 टन वर्ग के अंतरिक्ष यान को प्रमोचित करने के लिए सक्षम, इसरो का भविष्य का प्रक्षेपण यान, निर्माण के उन्नत चरण में है। इसमें दो ठोस स्ट्रैप-ऑन (एस200) मोटर, एक भू संग्रहणीय तरल कोर चरण (एल110) और देश में ही विकसित सी25 क्रायोजेनिक चरण हैं। सी25 चरण सीई20 क्रायोजेनिक इंजन द्वारा यंत्रचालित है। प्रथम सीई20 का उड़ान इंजन स्वीकृति परीक्षण सफलतापूर्वक दिसंबर 2016 के दौरान उच्च ऊंचाई अनुकरण परीक्षण सुविधा में 25से.

Timeline

Comprehensive timeline of ISRO's journey through decades.



Timeline